मकर संक्रांति

SANKRANTI

मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनायें |

मकर संक्रांति का पर्व भगवान सूर्य के धनु राशि से मकर राशि मे प्रवेश पर मनाया जाता है | इस वर्ष भगवान सूर्य आज 14/01/2015 को 01:30 मिनट पर अर्धरात्रि में मकर राशि में प्रवेश कर रहे है | इस कारण मकर संक्रांति का पर्व 15/01/2016 को ही मनाया जाना चाहिए |

मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर गंगा स्नान, जाप, दान, हवन, श्राद्ध, तर्पण एवं सूर्योपासना करने से पित्र दोष से मुक्ति और मोक्ष की प्राप्ति होती है |

स्नान : मकर संक्रांति पर सूर्योदय से पूर्व उठकर आँवला, तिल, गंगाजल मिलाकर स्नान करना चाहिए |

सूर्योपासना : भगवान सूर्य को तांबे के लोटे से रोली, अक्षत, गुड जल में मिला कर ॐ ब्रह्म स्वरूपिणे सूर्य नारायण्नाय इदं अर्घ्यम् दतं नमम् बोल कर ३ बार पूर्व में मुख कर अर्घ् भगवान सूर्य को अर्पण करना चाहिए |

दान : मकर संक्रांति के दिन ब्राह्मण भोजन करा कर दक्षिणा सहित देसी घी, तिल, गुड, खिचड़ी, छाता, कंबल, जूता, चप्पल, वस्त्र आदि का दान ब्राह्मण एवं ज़रूरत मंद लोगो को सामर्थ्य से अधिक करने से सौ गुना फल की प्राप्ति शास्त्रों में कही गई है|